Category: पौराणिक कथाए

महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर क्या चढ़ाये और क्या नहीं

महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर क्या चढ़ाये और क्या नहीं, Maha Shivaratri Ke Din Shivaling Par Kya Chadhaen Aur Kya Nahin? महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर क्या चढ़ाये शिवलिंग पर क्या नहीं चढ़ाये महाशिवरात्रि व्रत की कथा महाशिवरात्रि कब है वर्ष 2022 में महाशिवरात्रि का पर्व मंगलवार 01 मार्च को मनाया जाएगा. शिव भक्तों के

Mahashivratri 2022 Vrat Katha महा शिवरात्रि कब है और क्यों मनाई जाती है?

महाशिवरात्रि ( Maha Shivratri) का पर्व भगवान शिव को अर्पण है, इस दिन माता पार्वती और भगवान शिव की पूजा-आराधना और व्रत किया जाता है। महाशिवरात्रि पर्व हर वर्ष फाल्गुन मास की चतुर्दशी को मनाया जाता है इस बार यह पर्व 01 मार्च 2022 को मनाया जाएगा महाशिवरात्रि :- कहा जाता है कि महाशिवरात्रि पर

हनुमान चालीसा Hanuman Chalisa

|| सम्पूर्ण हनुमान चालीसा || दोहा श्रीगुरु चरन सरोज रज निजमनु मुकुरु सुधारि। बरनउँ रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि।।बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन-कुमार। बल बुधि बिद्या देहु मोहिं, हरहु कलेस बिकार।। चौपाई जय हनुमान ज्ञान गुन सागर। जय कपीस तिहुं लोक उजागर।।रामदूत अतुलित बल धामा। अंजनि-पुत्र पवनसुत नामा।। महावीर विक्रम बजरंगी। कुमति निवार

भादवा की चौथ माता की कहानी। Bhadwa Ki Chauth Mata Ki Katha

इस बार 15 अगस्त 2022, दिन सोमवार को भाद्रपद महीने में – बहुला चतुर्थी या भादुड़ी संकष्टी चतुर्थी (Bhadwa Chaturthi) को व्रत किया जाएगा। चंद्रोदय समय: रात 09:46 बजे रहेगा। इस दिन भगवान श्री बिंदायक और चौथ माता की पूजा व व्रत किया जाता है। भादवा की चौथ को भादुड़ी चौथ या बहुला चौथ भी

वैशाख चौथ व्रत कथा (Vaishakh Chauth Ki Kahani )

श्री चौथ माता व्रत की विधि पूजन विधि – चौथ माता के व्रत के लिए साधक दिन भर भूखा रहे। एक पाटे पर चौथ-गणेश की मूर्ति या फोटो रख दे। यदि फोटो या मूर्ति न हो तो साटिया (स्वास्तिक) मांड दे और पास ही आखा ( गेहूं, चावल ) रखकर ऊपर जल का कलश रख दे

श्री सत्यनारायण व्रत कथा ( Shri Satyanarayan Varth Katha)

मुख्य सामग्री केले कलश चावल रोली धूप पुष्पों की माला श्री फल ( नारियल ) फल कपूर तुलसी गुलाब का फूल दीपक पान पंचामृत (दूध, दही, घी, शहद, शक्कर,) गेहू का चूर्ण पूजा की विधि: श्री सत्यनारायण भगवान का व्रत करने वाला पूर्णिमा व संक्रान्ति के दिन साँय को स्नान करके पूजा स्थान पर बैठकर

करवा चौथ व्रत कथा: साहूकार के सात लड़के, एक लड़की की कहानी

इस बार 13 अक्टूबर 2022, दिन गुरुवार को कार्तिक महीने में संकष्टी चतुर्थी या करवा चौथ (Karwa Chaturthi) व्रत किया जाएगा। इस व्रत में भगवान श्री गणेश की पूजा होती है। इस व्रत को करने से संतान प्राप्ति और संतान की कोई चिंता है तो वह दूर करने वाली यह चतुर्थी मानी गई है। इस

तिल चतुर्थी व्रत 21 जनवरी 2022 को पढ़े पौराणिक कथा

माघ के महीने की माही चौथ की कहानी इस बार 21 जनवरी 2022, दिन शुक्रवार को माघ महीने में संकष्टी चतुर्थी या तिल चौथ (Mahi Chaturthi) व्रत किया जाएगा। इस व्रत में भगवान श्री गणेश की पूजा होती है। इस व्रत को करने से संतान प्राप्ति और संतान की कोई चिंता है तो वह दूर