IFS Full Form | IFS क्या होता है और IFS के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में?

आज के इस लेख में हम आपको IFS क्या होता है और इसका full form क्या होता है इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले है। IFS एक अधिकारी होता है जो आप सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास होकर बन सकते है। बहुत से लोग सिर्फ IAS और IPS के बारे में ही जानते है, परंतु उनको IFS के बारे में पता ही नही रहता है। बहुत से लोगो ने तो कभी IFS का नाम भी सुना हुआ नही रहता है। परंतु आज का यह लेख पढ़कर आप IFS के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर लोगे। तो चलिए आज हम आपको techtipsinhindi.com पर पहले IFS का full form बताते है और फिर उसके बाद इसके बारे में थोड़ी जानकारी भी दे देते है।

IFS Full Form क्या होता है
यदि आप सच मे IFS का full form नही जानते है तो कोई बात नही आप आगे का लेख पढ़िए, इसके बारे में पूरी जानकारी आपको प्राप्त हो जाएगी। यदि आप भविष्य में कभी IFS अधिकारी के पोस्ट की पढ़ाई करना चाहते है तो यह लेख आपके लिए बहुत ही जरूरी है, खासतौर पर आपको इसका full form जानना बेहद जरूरी है। तो चलिए नीचे हम आपको IFS के full form के बारे में बताते है।

नीचे हम आपको IFS का full form बताने जा रहे है। आज हम आपको IFS का full form हिंदी और इंग्लिश इन दोनों भाषओं में फुल फॉर्म बता रहे है।

IFS Full Form In English

IFS – Indian Foreign Service

IFS Full Form In Hindi

IFS – भारतीय विदेश सेवा

IFS क्या होता है?
भारतीय विदेश सेवा ग्रुप ए और ग्रुप बी के तहत प्रशासनिक राजनयिक सिविल सेवा है। यह भारत सरकार की कार्यकारी शाखा की केंद्रीय सिविल सेवाओं में से एक है। IFS के सदस्य अंतर्राष्ट्रीय क्षेत्र में देश का प्रतिनिधित्व करते हैं। IFS अन्य नागरिक सेवाओं के विपरीत है क्योंकि यह देश के बाहरी मामलों जैसे कि कूटनीति, व्यापार और सांस्कृतिक संबंधों से संबंधित है।

यहां तक केेई एक IFS Officer विदेश नीतियों और विदेशों में भारतीय मिशनों के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है।

IFS के लिए आवश्यक पात्रता क्या है?
शारीरिक मापदंड

भारतीय वन सेवा परीक्षा में प्रवेश के लिए शारीरिक मानकों के अनुसार उम्मीदवारों को शारीरिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए। उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे विस्तृत नियमों और विनियमों की जांच करने के लिए IFS की आधिकारिक अधिसूचना देखें।

राष्ट्रीयता

भारत का नागरिक होना अति आवश्यक है और 1 जनवरी 1962 से पहले भारत में स्थायी रूप से बसने के इरादे से तिब्बती शरणार्थी भारत आए हुए नागरिक।

IFS के लिए शैक्षणिक पात्रता क्या होना चाहिए
उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से डिग्री होनी चाहिए या उसके समकक्ष योग्यता होनी चाहिए।

आवश्यक योग्यता

  1. निर्णय लेने की क्षमता
  2. अच्छा संचार कौशल
  3. विदेशी देशों और वर्तमान मामलों के बारे में उत्कृष्ट ज्ञान
  4. नेतृत्व क्षमता
  5. अच्छी विश्लेषणात्मक क्षमता

IFS के लिए Age Limit क्या होती है
अभ्यर्थी की आयु न्यूनतम 21 वर्ष और अधिकतम 32 वर्ष 1 अगस्त, 2020 को परीक्षा के वर्ष में होनी चाहिए, अर्थात उसका जन्म 2 अगस्त, 1988 से पहले नहीं और बाद में 1 अगस्त, 1999 से पहले हुआ होगा। जबकि ऊपरी दिए गए मामलों में आयु सीमा में नीचे दिए गए जाती में छूट दी जाएगी ।

अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति (एससी / एसटी) के लिए – 5 वर्ष तक

अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) – 3 वर्ष तक

जम्मू और कश्मीर राज्य (1 जनवरी 1980 से 31 दिसंबर 1989 की अवधि के दौरान अधिवासित – 5 वर्ष तक।

रक्षा सेवा कर्मी – 5 वर्ष तक

भूतपूर्व सैनिक जिनमें कमीशन अधिकारी और ईसीओ / एसएससीओ शामिल हैं जिन्होंने कम से कम 5 साल की सैन्य सेवा प्रदान की है और जारी की गई है – 5 साल तक

ईसीओ / एसएससीओ – अधिकतम पांच वर्ष तक।

IFS अधिकारी का काम क्या रहता है?

  1. भारत को अपने दूतावासों, उच्च आयोगों, वाणिज्य दूतावासों और बहुपक्षीय संगठनों में प्रतिनिधित्व करना
    जिस देश में अधिकारी तैनात है, भारत के राष्ट्रीय हितों की रक्षा करना।
  2. भारत और उस देश के बीच मित्रता को सुधारना और बढ़ावा देना, जिसमें अधिकारी तैनात हैं।
  3. जिनमें अनिवासी भारतीय या भारतीय मूल के व्यक्ति शामिल हैं।
  4. विदेशों में होने वाले विकास के बारे में जानकारी देना जो भारत की नीति को प्रभावित करना।
  5. एक IFS अधिकारी की भूमिका बहुत ही आशाजनक और चुनौतीपूर्ण है।
  6. भारत और उनके द्वारा नियुक्त देश के बीच सभी राजनयिक संबंधों को संभालने और प्रबंधित करने की जबाबदारी रहती है।

अंतरराष्ट्रीय मंचों और प्लेटफार्मों पर भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए और उन्हें नियुक्त किए जाने वाले देशों में, एक IFS अधिकारी इस प्रकार भारत के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण धागा है, जो भारतीय विदेश नीति को आकार देने और देशों के साथ सभी राजनयिक और आर्थिक संबंधों के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *